दर्दनाक बस हादसे में 15 की मौत 60 लोग घायल, गृह मंत्री के कार्यक्रम से लौट रही थी बसे, जेपी नड्डा ने जताया शोक

Spread the love

मध्य प्रदेश के सीधी में एक भयंकर सडक़ हादसे में 15 लोगों की मौत हो गई है, जबकि तीन गंभीर रूप से घायल हुए हैं। जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश के सीधी जिले में देर रात हुए सडक़ हादसे में मृतकों की संख्या 15 होने के बीच गंभीर रूप से घायल तीन लोगों को एयरलिफ्ट करा कर गुरूग्राम के एक निजी अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा।

 

 

मामले की पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक मुकेश श्रीवास्तव ने जानकारी दी कि हादसे में मरने वालों की संख्या 15 हो गई है, वहीं 60 लोग घायल हैं, जिनमें से 40 घायलों को संजय गांधी अस्पताल, रीवा में भर्ती कराया गया है। इनमें से 15 की हालत गंभीर बनी हुुई है। तीन लोग अति गंभीर रूप से घायल हैं, जिनमें एक पटवारी प्रमोद पटेल भी शामिल हैं। प्रमोद पटेल, जीतेन्द्र तिवारी और शिवम नामक घायलों को उपचार के लिए गुरूग्राम भेजा जा रहा है। वहीं 20 घायलों का जिला अस्पताल, सीधी में उपचार हो रहा है। उन्होंने बताया कि हादसे में पांच पटवारी और तीन पुलिसकर्मी घायल हैं। बताया गया है कि सीधी जिले से कुछ दूर स्थित सतना जिले में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के बाद बसों से ग्रामीण सीधी जिला लौट रहे थे। चुरहट थाना क्षेत्र में मोहनिया टनल क्षेत्र में एक स्थान पर तीन बसों को रोका गया था। इसी बीच एक तेज रफ्तार ट्रक ने बसों में टक्कर मार दी। इस वजह से दो बसें ज्यादा क्षतिग्रस्त हुयीं और एक बस में अपेक्षाकृत कम नुकसान हुआ है। बताया गया है कि ट्रक में सीमेंट की बोरियां लदी हुई थीं।

 

हादसे के तत्काल बाद वहां मौजूद लोगों और आसपास के ग्रामीणों की मदद से यात्रियों को बसों से निकालने का प्रयास किया गया। सूचना मिलते ही सीधी कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक भी मौके पर राहत एवं बचाव दल के साथ पहुंचे। हादसा लगभग साढ़े नौ बजे हुआ। सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल सीधी और रीवा जिला प्रशासन के अधिकारियों को आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। देर रात मुख्यमंत्री श्री चौहान और भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा भी घटनास्थल पर पहुंचने के बाद अस्पताल पहुंच कर घायलों से मिले। देर रात श्री चौहान ने संवाददाताओं से चर्चा में कहा कि इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना में जो साथी नहीं रहे, उनके परिजनों को 10 लाख रुपए की राहत राशि प्रदान की जाएगी। अगर आश्रित को शासकीय सेवा में लिया जा सकता है तो उसे सेवा में लेने का काम करेंगे। बेहतर इलाज के साथ गंभीर घायलों को 2 लाख रुपए और साधारण घायलों को 1 लाख रू प्रदान किये जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *