प्रदेश में आज से बारिश, ओलावृष्टि और बर्फवारी

Spread the love

शिमला| सूबे में आज से अगले 3 दिन मौसम खराब रहेगा। मौसम विभाग ने मंगलवार को प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में आंधी तूफान चलने व आसमानी बिजली गिरने की चेतावनी दी है। इसी तरह कल अधिक ऊंचे व मध्यम ऊंचाई वाले कुछ इलाकों में भारी बारिश और बर्फबारी होने का पूर्वानुमान है।कम ऊंचे व मैदानी इलाकों में आंधी तूफान आने व आसमानी बिजली गिरने का येलो अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश में अगली 3 मार्च तक मौसम खराब रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 5 जिलों मंडी, चंबा, कांगड़ा, कुल्लू और लाहौल स्पीति में ओलावृष्टि का अलर्ट दिया है।

 

मौसम विभाग के पूर्वानुमान ने किसानों-बागवानों की चिंताएं बढ़ा दी हैं। ओलावृष्टि से किसानों की फसलों और स्टोन फ्रूट व सेब की फ्लावरिंग को नुकसान होने का डर है। किसान और बागवान ही सूखे की मार से त्रस्त है। अब ओलावृष्टि के पूर्वानुमान से चिंतित हैं।बेशक प्रदेश के अधिकांश शहरों में अभी भी तापमान सामान्य से ज्यादा चल रहा है, लेकिन बीते 24 घंटे के दौरान कई शहरों के तापमान में एक से 3 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है। शिमला का अधिकतम तापमान 2 दिन में 19 डिग्री से गिरकर 16.9 डिग्री तक लुढ़क गया है। इसी तरह कई अन्य शहरों का पारा भी गिरा है।

 

विंटर सीजन में 36 प्रतिशत कम बारिश

प्रदेश में इस बार एक जनवरी से 27 फरवरी तक सामान्य से 36 फीसदी कम बारिश-बर्फबारी हुई है। इस ‌अवधि में सामान्य बारिश 181.7 मिलीमीटर होती है, लेकिन इस बार 117 मिलीमीटर ही हुई। सोलन में सबसे ज्यादा सूखे वाली स्थिति है, यहां 67 प्रतिशत कम बारिश हुई। 2022-23 में सर्दियों में सामान्य से 92 प्रतिशत अधिक बारिश हुई थी।

 

सोलन में सबसे ज्यादा सूखा

सोलन में सबसे ज्यादा 67 प्रतिशत कम बादल बरसे हैं। मंडी में 60 प्रतिशत, बिलासपुर में 53 फीसदी, किन्नौर में 49 प्रतिशत, चंबा में 37 प्रतिशत, हमीरपुर में 45 प्रतिशत, कांगड़ा में 23 प्रतिशत, कुल्लू में 11 प्रतिशत, लाहौल स्पीति में 31 प्रतिशत, शिमला में 42 प्रतिशत, सिरमौर में 46 प्रतिशत और ऊना में 32 प्रतिशत बारिश हुई। यह गर्मियों के लिए अच्छा संकेत नहीं माना जा रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *