अध्यापक संघ शिमला ने ओपीएस बहाली पर जताया सीएम का आभार

Spread the love

शिमला

 अध्यापक संघ जिला शिमला के पदाधिकारियों जिसमें शिमला के प्रधान महावीर कैथला ,महासचिव हेमराज, कोषाध्यक्ष रमन वर्मा ,सुरेंद्र वर्मा हरनाम धर्मा ,सोहनलाल ने सरकार का ओल्ड पेंशन बहाली पर धन्यवाद किया है और साथ ही साथ सरकार को बधाइयां व शुभकामनाएं भी दी ताकी सरकार हर क्षेत्र में जरूरत के मुताबिक कार्य कर समाज की नजरों में खरा उतरे । संघ के पदाधिकारियों ने विशेष तौर से मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री से स्वयं हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है कीबोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं को पूर्व की भांति वार्षिक किया जाए term-1 व term-2 को समाप्त किया जाए और साइंस के प्रैक्टिकल भी पूर्व की भांति 25 अंक के होने चाहिए दस अंक का प्रैक्टिकल एक भद्दा मजाक है .कॉमर्स मे भी प्रोजेक्ट जितने नंबर का होता था उतने का ही होना चाहिए . इस टर्म की वजह से अध्यापक व बच्चों का काफी समय खराब हो जाता है व पढाई की निरंतरता मे भी बाधा पड़ती है संयुक्त वक्तव्य में यह कहा है कि यह सही है कि वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है परंतु कर्मचारियों स्थिति व उनकी समस्याओं का भी समय रहते समाधान करना होगा .इसलिए डीए की किस्त जो अभी तक 31% दी गई है शेष 11% बकाया है ,एसएमसी अध्यापकों व outsource के लिए स्थाई पॉलिसी बनाई जाए ,4-9-14 को बहाल किया जाए एरियर पे कमीशन को यथा शीघ्र दिया जाए, न्यू स्केल पंजाब के बराबर इत्यादि को अमलीजामा पहनाया जाए और आजकल एक मुद्दा ट्रांसफर का है उसके लिए भी सरकार से आग्रह किया जा रहा है 2013 की ट्रांसफर पॉलिसी जिसमें शहर से शहर 25 किलोमीटर, शहर से ग्रामीण व ग्रामीण से शहर 25 किलोमीटर , ग्रामीण से ग्रामीण 15 किलोमीटर था को ही लागू करने का आग्रह किया है, सभी ने मिलकर इस बात पर भी जोर दिया है कि संगठन का धर्म है की अध्यापकों और बच्चों के हितों को ध्यान में रखते हुए आवाज उठाई जाए और अच्छे के लिये सरकार की तारीफ की जाए व कुशल प्रशासन संचालन में सरकार का साथ दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *