जानिए आईजीएमसी शिमला अस्पताल में कैसे भड़की आग

Spread the love

शिमला

टॉप फ्लोर में बनी कैंटीन में फटे दो सिलेंडर वहा से भड़की आग।

 

वीरवार सुबह हिमाचल प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी में आग लगने की सूचना मिलते ही अफ़रतफ़री मच गई।

 

IGMC बनी ओपीडी के टॉप फ्लोर में बनी कैंटीन में आग लगी. जिसमें देखते ही देखते पूरी मंजिल को राख के ढेर में तब्दील कर दिया।

 

 

सूचना मिलने के बाद पहुंची अग्निशमन की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। गनीमत रही की भीड़भाड़ वाले अस्पताल में जानी नुकसान नही हुआ है। आग से 50 से 60 लाख रुपये नुकसान का शुरुआती आंकलन है।

 

अग्निशमन विभाग के चीफ फायर ऑफिसर महेश ने बताया कि सुबह जब कैंटीन बॉय उठा और उसने गैस जलाने की कोशिश की तो अचानक से आग भड़क गई और दो सिलेंडर फटने से पूरी मंजिल में आग लग गई। लकड़ी से बना एटिक जलकर राख हो गया।

 

फिलहाल अग्निशमन विभाग ने आग पर काबू पा लिया है। 50 से 60 लाख के शुरुआती नुकसान का आंकलन है। अग्निशमन विभाग की मुश्तेदी से 10 करोड़ की संपत्ति को बचाया गया है। I

 

GMC के सुरक्षा कर्मियों ने आग बुझाने में मदद की। 1 माह पहले ही मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने आईजीएमसी मैंने ओपीडी का उद्घाटन किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *