अभी खूब सताएगी बरसात.. बादल फटने और भूकंप के योग… पंडित शशी पाल डोगरा

Spread the love

कुमारसैन

सूर्य का राशि परिवर्तन संकट और अशुभ फलकारी: पंडित शशिपाल डोगरा

 

बरसात अभी और सताएगी, बादल फटने और भूकंप की संभावना रहेगी, सरकारों पर खतरा

जानेमाने अंक ज्योतिषी एवं वशिष्ठ ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने कहा कि आज 17 जुलाई की सुबह 5:09 मिनट पर सूर्यदेव मिथुन राशि से कर्क राशि में प्रवेश कर गया। उन्होंने बताया कि सूर्यदेव का यह राशि परिवर्तन संकट और अशुभ फलकारी है। सूर्य का कर्क राशि में रहना व शनि का कुंभ राशि में रहना षडाष्टक योग बना रहा है, जोकि शुभ नहीं है। उन्होंने कहा कि 17 जुलाई का 1 + 7 = 8 अंक शनि का अंक बनता है। शनि जो कर्म फल दाता है। जैसे कर्म करेंगे वैसे ही फल भोगने पड़ेंगे। शनि न्याय तो करेगा ही। 1+7+7+2+0+2+3 = 22 = 2+2 = 4 राहु का अंक जो अचानक ही कुछ भी कर देता है। संकट दे देता है। श्मशान योग बना रहा है। पंडित डोगरा ने कहा कि साथ में 18 जुलाई से 16 अगस्त तक श्रावण मास का अधिकमास का लगना भी शुभ संकेत नहीं दे रहा है। कुछ प्रदेशों में संकट के बादल देगा। उन्होंने कहा कि बारिश रुकने का नाम नहीं लेगी, बादल फटने के योग ज्यादा बन रहा है। 1+8=9 अंक जो मंगल का अंक है। पंडित डोगरा ने कहा कि मंगल भूमि का कारक है। भूमि में नुकसान देगा। भूकंप तथा प्राकृतिक आपदा के कारण परेशानी होगी। उन्होंने कहा कि पहाड़ी इलाके के लिए समय अनुकूल नहीं है। इसके साथ-साथ सरकारें भी संकट में आ सकती हैं। सूर्यदेव राशि परिवर्तन के चलते नेताओं का आपसी विवाद बढ़ेगा। वाणी पर संयम नहीं रहेगा। जिसके कारण खुद ही परेशानी में पड़ जाएंगे। पंडित डोगरा ने कहा कि सभी लोग श्रावण मास में भगवान शिव की पूजा करें। शिवलिंग का अभिषेक करवाएं। शिवलिंग पर बिलपत्र चढ़ाएं। संकट में केवल शिव ही रक्षक है। अपने घरों में महामृत्युंजय का जप सभी लोग कम से कम 11 बार रोज करें। बाकी सर्वज्ञ तो ईश्वर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *