रामपुर ब्रो से चकलोट सड़क तीन माह से बंद, परिवहन निगम की बस भी फसी, केंपर गाड़ियों में बोरियों की तरह जाने को जनता मजबूर

Spread the love

चार पंचायतों को जोडऩे वाली ब्रौ से चकलोट सडक़ तीन माह से बंद, केंपरों में बारियों की तरह ढोई जा रही सवारियां, कभी भी हो सकता है हादसा….

रामपुर

रामपुर के साथ लगते निरमंड खंड के अंतर्गत ब्रौ से चकलोट सडक़ भारी बारिश से हुई स्लाइडिंग के कारण तीन माह से बाधित है। इस सडक़ के बंद होने से चार पंचायतों के दर्जनों गांव के ग्रामीण काफी प्रभावित हो रहें है। सडक़ बाधित होने से बसों की आवाजाही पूरी तरह से बंद है। जिस कारण मजबूरन ग्रामीणों को छोटी गाडिय़ों में सफर करना पड़ रहा है। स्थिति ये है कि केंपरों में बोरियों की तरफ सवारियों को ढोया जा रहा है। जिस कारण कभी भी हादसा हो सकता है। लेकिन इस बात से प्रशासन सहित पुलिस पूरी तरह से बेखबर है। बताते चले कि जुलाई माह के शुरूआत में भारी बारिश से ब्रौ से चकलोट सडक़ जगह जगह से टुट गई थी। जिसे आज दिन तक ठीक नहीं किया गया है। छोटी गाडिय़ां जैसे तैसे तो निकल रही है लेकिन बड़े वाहन निकलना फिलहाल मुश्किल है। ऐसे में इस सडक़ के बंद होने होने से चार पंचायतों ब्रौ, पोशना, बाड़ी, तुनन के दर्जनों गांव के लोगों को तीन माह से खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है। पोशना पंचायत के पूर्व उप प्रधान सुरेश चंद ने कहा कि सडक़ की हालत खासी दयनीय बनी हुई है। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग अभी भी इस सडक़ को खोलने के लिए कोई खास दिलचस्पी नहीं ले रहा है। जहां पर सडक़ टुटी हुई है वहां पर कछुआ गति से काम चल रहा है। इस क्षेत्र से संबंध रखने वाले महेश, सुरेंद्र, दीपक, कांता देवी, सुखराम, देशराज, सुरमी देवी, राधा देवी, सुरेखा, लता, महेश्वरी, सुधा, मेनका, गुरूदास, अनिल, तिलक, पवन का कहना है कि सडक़ न खुलने से मजबूरी में उन्हें छोटी गाडिय़ों में सफर करना पड़ रहा है। स्थिति ये है कि जहां ग्रामीणों को ज्यादा किराया देकर सफर करना पड़ रहा है वहीं छोटी गाडिय़ों में सफर करना जानलेवा बना हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि यहां की स्थिति ये हो गई है कि छोटे वाहनों के चालक सवारियों को ढोने के लिए एक दुसरे से लड़ते दिख जाते है। यहां तक कि कई मर्तबा सडक़ में पास को लेकर भी हाथापाई हो चुकी है।

तीन माह से चकलोट में फंसी है पथ परिवहन निगम की बस-

इस सडक़ के बंद होने से न केवल ग्रामीण परेशान है बल्कि परिवहन डिपो को भी चुना लग रहा है। करीब तीन माह से पथ परिवहन की बस चकलोट में फंसी हुई है। ये बस तभी निकल सकती है जब ब्रौ से चकलोट की 13 किमी की सडक़ वाहनों के लिए खुल जाएगी।

वही सहायक अभियंता पीडब्ल्यूडी ब्रो सब डिवीजन उदय सिंह ने बताया कि ब्रौ से चकलोट सडक़ को खोलने के लिए प्रयास किए जा रहें है। टुटी हुई सडक़ में डंगे लगाए जा रहें है और जल्द ही सड़क को बड़े वाहनों को लिए खोल दिया जायेगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *