मां माहेश्वरी के दर उमड़ी आस्था की भीड़, छोटी बल्टी महायज्ञ शड़ी मतियाना में हजारों लोगो ने लिया आशिर्वाद..

Spread the love

मतियाना

जिला शिमला के प्रसिद्ध शक्तिपीठ मां माहेश्वरी धाम शड़ी मतियाना में 28 जनवरी रविवार को ऐतिहासिक छोटी बल्टी महायज्ञ मेले का आयोजन किया गया। वैसे तो माता की देवठी में हर वर्ष बल्टी मेले का आयोजन होता है जिससे एक वर्ष माता के मुख्य मंदिर में मेला मनाया जाता है और दूसरी वर्ष शड़ी में ही माता के दूसरे मंदिर यानी देऊरे में मेला मनाया जाता है। इस वर्ष माता के छोटे मंदिर यानी देवरे में छोटी बल्टी महायज्ञ का आयोजन जिसमे क्षेत्र के हजारों लोगो ने अपनी हाजिरी भरी और माता से सुख समृद्धि और खुशहाली का आशिर्वाद प्राप्त किया।

 

 

 

 

 

 

क्या है मेले का इतिहास

 

छोटी बल्टी महायज्ञ मेला पारंपरिक एवम ऐतिहासिक मेला है जो सदियों से मनाया जा रहा है। मेले में सर्वप्रथम सुबह माता की पूजा अर्चना की जाती है उसके बाद परम्परा के अनुसार शाबर मंत्रोचारण के साथ मां माहेश्वरी पालकी में छोटे मंदिर देवरे के लिए प्रस्थान करती है कहा क्षेत्रवासीयो को सुख समृद्धि और उन्नति का आशीष प्रदान करती है। उसके बाद मंदिर परिसर में भव्य जातर का आयोजन किया जाता है जिसमें मतियाना परगना के कल्याणो सहित दूर दूर से आकर हजारों की संख्या में लोग भाग लेते है। उसके बाद माता के मंदिर में भंडारे का आयोजन किया जाता है।

 

 

 

 

क्या कह रहे माता के कारदार

 

मां माहेश्वरी के देवा जी नारायण दत्त शर्मा, मुख्य पुजारी केशवराम शर्मा, कारदार अधिवक्ता मदन चौहान ने जानकारी देते हुए बताया की ये परंपरागत मेला है जो सदियों से मनाया जा रहा है और आज भी परंपरा कायम है। छोटी बल्टी महायज्ञ के दौरान क्षेत्र में सुख, शांति और उन्नति के लिए परंपरागत  पूजा अर्चना, जातर की प्रथा का निर्वहन किया जाता है और माता द्वारा मेले में आए लोगो व क्षेत्रवासियों को सुख समृद्धि और खुशहाली का आशीर्वाद प्रदान किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *