ठियोग अस्पताल को ज़िला अस्पताल बनाने का प्रस्ताव मंत्रिमंडल में रखेंगे – स्वास्थ्य मंत्री डॉ शांडिल..

Spread the love

ठियोग

सिविल अस्पताल ठियोग को ज़िला अस्पताल बनाने का प्रस्ताव मंत्रिमंडल में रखेंगे – डॉ शांडिल।

 

ठियोग अस्पताल को जल्द मिलेगी अल्ट्रासाउंड मशीन।

 

28 जनवरी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री कर्नल डॉ धनि राम शांडिल ने सिविल अस्पताल ठियोग का निरीक्षण किया और अधिकारियों को वहां बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने प्राथमिकता के आधार पर सिविल अस्पताल ठियोग में फरवरी माह तक नर्सिंग अधिकारी तैनात करने के आदेश दिये। इसके अतिरिक्त, मेडिसिन डॉक्टर भी अस्पताल में जल्दी नियुक्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल को जल्द ही अल्ट्रासाउंड मशीन भी उपलब्ध करवा दी जायेगी और सीटी-स्कैन मशीन पीपीपी मोड के तहत जल्द उपलब्ध होगी।

उन्होंने कहा कि इस अस्पताल में सुविधाएँ इसलिए बढ़ाई जा रही हैं ताकि शिमला में आईजीएमसी और रिपन अस्पताल पर बोझ कम हो सके। इसी दिशा में कार्य करते हुए कुमारसैन अस्पताल को आदर्श स्वास्थ्य संस्थान बनाने की घोषणा की गई है।

उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल ठियोग को जिला अस्पताल बनाने के लिए मामला मंत्रिमंडल में रखा जाएगा। इसके अतिरिक्त, डॉक्टर और अन्य स्टाफ के लिए आवासीय सुविधा उपलब्ध करवाने का मामला भी सरकार से उठाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में बहुत आगे की सोचने की जरूरत है और उसी हिसाब से योजना बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि समय से साथ जनसंख्या बढ़ रही है और नई-नई बीमारियों भी सामने आ रही हैं, इसलिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ होना जरूरी है।

विधायक ठियोग कुलदीप सिंह राठोर ने कहा कि ठियोग में बेहतर स्वास्थ्य सेवा महत्वपूर्ण है क्योंकि दूरदराज से लोग यहाँ स्वास्थ्य लाभ लेने आते हैं। उन्होंने सिविल अस्पताल ठियोग को ज़िला अस्पताल का दर्जा देने की माँग रखी। उन्होंने कहा कि ज़िला अस्पताल बनने से इस क्षेत्र के लोगों के साथ-साथ करसोग और बाहरी सेराज क्षेत्र के लोगों को भी लाभ होगा।

वहीं अस्पताल बचाओ संघर्ष समिति ठियोग ने भी जोरदार तरीके से अपनी मांगों के पूरा ना होने के मुद्दे को स्वास्थ्य मंत्री के सम्मुख उठाया और जल्द पूरा ना होने पर जनता के साथ फिर से सड़को पर प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दे डाली। उन्होंने ठियोग अस्पताल को जिला आदर्श अस्पताल बनाने की घोषणा के लिए प्रदेश सरकार का आभार भी जताया।

इस अवसर पर निदेशक स्वास्थ्य सेवाएँ डॉ गोपाल बेरी, अतिरिक्त उपायुक्त शिमला अभिषेक वर्मा, उपमंडल दण्डाधिकारी ठियोग मुकेश शर्मा, अध्यक्ष एमसी ठियोग विवेक थापर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेखा चोपड़ा सहित अन्य अधिकारी व अस्पताल के स्टाफ के सदस्य भी उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *