पीडब्ल्यूडी ने बहाल की 700 सड़के, 250 अभी भी बाधित, पल पल की अपडेट ले रहे मंत्री विक्रमादित्य सिंह

Spread the love

शिमला

भारी बर्फबारी के कारण प्रदेश में बंद हुई सड़को को खोलने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है मंत्री विक्रमादित्य सिंह खुद पल पल की खबर ले रहे है और अधिकारियों को निर्देश जारी कर रहे हैं। पीडब्ल्यूडी ने रविवार को खराब मौसम के बावजूद प्रदेश भर में 81 सडक़ों को बहाल कर लिया है। विभाग ने भारी मशीनरी की मदद से इन सडक़ों को दोबारा यातायात लायक बनाया है। यह सडक़ें भारी बर्फबारी की वजह से बाधित हो गई थी। पीडब्ल्यूडी ने बीते 72 घंटे में करीब 700 से ज्यादा सडक़ें बहाल कर ली हैं और अब 250 सडक़ें बाधित हैं। पीडब्ल्यूडी ने आगामी 24 घंटे में मौसम साफ रहने पर 175 सडक़ों को बहाल करने का लक्ष्य तय किया है। बीते 24 घंटे में पीडब्ल्यूडी को दो करोड़ रुपए का ताजा नुकसान हुआ है और अब विभाग का नुकसान बढक़र 22 करोड़ 68 लाख रुपए पहुंच गया है। विभाग ने बीते 24 घंटे में 51 जेसीबी को बर्फ हटाने के काम से अलग किया है। इनमें 43 जेसीबी किराए की हैं जबकि नौ विभाग की अपनी हैं। इस समय बंद सडक़ों को खोलने के लिए 206 जेसीबी का इस्तेमाल किया जा रहा है। पीडब्ल्यूडी के प्रमुख अभियंता अजय गुप्ता ने बताया कि विभाग ने सडक़ों को बहाल करने में भारी तादाद में जेसीबी लगाई हैं। पीडब्ल्यूडी ने लक्ष्य तय किया है और उसे हासिल करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। बर्फ कई किलोमीटर में फैली है और मौसम भी लगातार खराब रह रहा है। विभाग आगामी 72 घंटे में 75 फीसदी से ज्यादा सडक़ों पर दोबारा यातायात बहाल कर देगा।

 

57 पेयजल योजनाएं ठप

 

प्रदेश भर में 57 पेयजल योजनाएं ठप पड़ी हैं। इनमें सबसे ज्यादा 33 पेयजल योजनाएं मंडी जिला में बंद हैं, जबकि 13 चंबा में और 11 लाहुल-स्पीति में बंद है।

 

341 ट्रांसफार्मर में दौड़ा करंट

 

बिजली बोर्ड ने रविवार को 341 ट्रांसफार्मर बहाल किए हैं। बिजली बहाल होने के साथ ही स्थानीय ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। प्रदेश भर में शनिवार को 674 ट्रांसफार्मर बंद थे। खराब मौसम के बावजूद बिजली बोर्ड के कर्मचारियों ने भारी बर्फ के बीच ट्रांसफार्मर बहाल किए हैं। चंबा में 198 ट्रांसफार्मर बहाल किए गए हैं। अब यहां 125 ट्रांसफार्मर ठप हैं। कुल्लू में 150 ट्रांसफार्मर में से 91 को चालू कर दिया है। लाहुल-स्पीति में भारी बर्फबारी के बीच एक ही ट्रांसफार्मर ठीक हो पाया है। यहां अभी भी 35 स्थानों पर बीते पांच दिन से बिजली गुल है। मंडी में 93 ट्रांसफार्मर ठीक किए गए हैं, जबकि शिमला में 23 ट्रांसफार्मर ठीक हुए हैं।

 

खजियार बर्फ की कैद से आजाद

 

चंबा। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजियार बर्फ की कैद से आजाद हो गया है। पीडब्ल्यूडी ने कड़ी मशक्कत के बाद खजियार मार्ग से जमी बर्फ को हटाकर छोटे व बड़े वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया है। मगर डलहौजी-खजियार मार्ग अभी बंद पडा हुआ है।

 

एचआरटीसी के 200 रूट बंद, लोग परेशान

 

प्रदेश में पिछले दो दिन से बारिश और बर्फबारी के कारण हिमाचल पथ परिवहन निगम के अभी भी 200 रूट पर बस सेवाएं प्रभावित हैं। प्रदेश के कई ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी में एचआरटीसी की बसें फंसी हुई हैं। हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम के अनुसार सबसे ज्यादा बसें ऊपरी शिमला में फंसी हुई है। कई बसें ऐसी है, जो आधे रूटों में फंस गई है। बस सेवा प्रभावित होने के कारण लोगों को भी आने जाने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। एचआरटीसी के अलावा निजी बसें भी बर्फबारी के कारण अपने रूटों पर नहीं चल रही हैं। प्रदेश के चंबा, पांगी, भरमौर, केलांग, रोहतांग, मनाली, शिमला और किन्नौर में कई रूटों पर बस सेवाएं प्रभावित हुई हैं। एचआरटीसी के शिमला डिवीजन के अधिकतर रूट सस्पेंड और बंद किए है। प्रदेश के अधिकतरों क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के कारण वाहनों की आवाजही ठप हो गई है। हिमाचल पथ परिवहन निगम के 200 रूटों पर बस सेवाएं प्रभावित हुई है। प्रदेश के कई इलाकों में निजी बसें भी जगह-जगह फंसी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *