नाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन ने तोड़ा रिकार्ड, 322 लोगो ने दी अपने जीवनदाई रक्त की आहुति

Spread the love

झाखड़ी

नाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन ने रक्तदान शिविर में तोड़ा अपना ही पुराना रिकार्ड

 

“रक्तदान को बनाईए अभियान

रक्तदान करके बचाईए जान”

 

इसी मकसद को लिए दिनांक 06 फरवरी, 2024 को सुबह 9:00 बजे से सायं 3:00 बजे तक आईजीएमसी शिमला के ब्लड बैंक की देखरेख में परियोजना अस्पताल-झाकड़ी में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 322 लोगों ने रिकार्ड रक्त देकर इस परियोजना द्वारा किए गए पुण्य कार्य में अपनी सहभागिता दर्ज की है । परियोजना ने इतनी संख्या में रक्तदान करवाकर अपने ही पुराने रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया ।

रक्तदान किसी का जीवन ही नहीं बचाता अपितु आत्मिक संतुष्टि भी प्रदान करता है । एक रक्त की बूंद जरूरतमंदों के लिए एक एक वरदान साबित हो सकती है ।

यह भी उल्लेख है कि नाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन ऊर्जा-उत्पादन के साथ-साथ अनेक सामाजिक उत्तरदायित्व का कुशलतापूर्वक निवर्हन करती है, जिसमें स्टेशन के कर्मचारी/अधिकारी कंधे से कंधा मिलाकर भागीदारी में सहयोगी बनते हैं ।

कार्यकारी निदेशक/परियोजना प्रमुख श्री मनोज कुमार ने नवनियुक्त पहली महिला अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक महोदया श्री मति गीता कपूर जी के कुशल नेतृत्व एवं दिशा-निर्देशों को नमन करते हुए कहा कि इस रक्तदान शिविर का मकसद ज्यादा से ज्यादा रक्त इकट्ठा कर जरूरतमंदों की मदद करना है । इस महादान में स्वैच्छिक रक्तदान कर जिन लोगों ने रक्तदान किया उनकी सराहना व्यक्त करते हुए कहा कि यह लोग कई जिन्दगियों को बचाने वाले मसीहा है । उनका इस पुनीत कार्य में सहयोग जरूरतमंदों के प्रति सर्मपण की भावना तो है ही बल्कि उनकी महानता को भी दर्शाता है ।

उन्होंने सभी को प्रेरित करने हेतु स्वयं रक्तदान कर एक उदाहरण भी प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर उन्होंने निगम की अध्यक्ष एवम प्रबन्ध निदेशक श्रीमति गीता कपूर का सहृदय आभार व्यक्त किया । साथ ही साथ इस शिविर में शामिल परियोजना के आसपास की जनता,विभिन्न संस्थानों के कर्म0@अधिकारियों एवं पैरामिल्ट्री फोर्स, एवम अन्य सभी लोगो का धन्यवाद किया ।

 

इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 रूपेश पारपे, विभागाध्यक्ष(मानव संसाधन) श्रीमति ईशा नेगी, एवं अन्य विभागाध्यक्ष सादर उपस्थित रहे ।

 

आयोजित रक्तदान शिविर में परियोजना प्रमुख का सटीक मार्गदर्शन पुराने रिकार्ड को तोड़ने में प्रेरणादायी रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *