एसजेवीएन ने पहली महिला अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक गीता कपूर को दी भावभीनी विदाई

Spread the love

एसजेवीएन ने अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक गीता कपूर को भावभीनी विदाई दी

 

शिमला

 

एसजेवीएन ने कारपोरेट मुख्यालय, शिमला में आयोजित एक समारोह में एसजेवीएन की अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सह निदेशक (कार्मिक)  गीता कपूर को भावभीनी विदाई दी। इस कार्यक्रम में श्री अखिलेश्‍वर सिंह, निदेशक (वित्‍त), सुशील शर्मा, निदेशक (परियोजनाएं),  प्रेम प्रकाश, मुख्‍य सतर्कता अधिकारी, वी. शंकरनारायणन, कार्यकारी निदेशक(निगम आयोजना), एस.एल. शर्मा, कार्यकारी निदेशक (वित्‍त), एस. मारास्‍वामी, कार्यकारी निदेशक(सीसीडी), चन्‍द्र शेखर यादव, कार्यकारी निदेशक(मानव संसाधन), वरिष्‍ठ अधिकारी और संपूर्ण एसजेवीएन परिवार ने उन्‍ह भावी उज्‍ज्‍वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

 

सशक्त महिला के रूप में गीता कपूर ने 01 फरवरी, 2024 को एसजेवीएन में अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार संभालते हुए, हाइड्रो सीपीएसयू का नेतृत्व करने वाली पहली महिला लीडर के रूप में अपनी पहचान बनाई। उल्‍लेखनीय रूप से, उन्होंने इससे पूर्व 18 अक्तूबर, 2018 को कंपनी की प्रथम महिला निदेशक बनकर इतिहास रचा।

 

इनके कार्यकाल में समृद्ध एवं व्यापक अनुभव और असाधारण संगठनात्मक कौशल द्वारा नवीन युग की शुरुआत हुई। इनके नेतृत्व में, एसजेवीएन ने महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल कीं, जिसमें कंपनी की आकस्मिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए निश्चित कार्यकाल के आधार पर नियुक्तियां शामिल हैं। उत्कृष्टता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता के कारण 12 जनवरी, 2024 को एसजेवीएन को ग्रेट प्लेस टू वर्क के रूप में मान्यता मिली। इसके अतिरिक्त, एसजेवीएन ने इनके नेतृत्व में 2019 में पीसीएमएम लेवल-II प्रमाणन और 2020 में लेवल III प्रमाणन हासिल किया। इनके मार्गदर्शन में एसजेवीएन के कारपोरेट कार्यालय परिसर ‘शक्ति सदन’ को गृहा काउंसिल द्वारा फोर-स्टार रेटिंग से सम्मानित किया गया, जिससे हिमाचल प्रदेश में इस प्रकार की रेटिंग प्राप्त करने वाला यह पहला भवन बना।

 

श्रीमती गीता कपूर ने पीपुल्स चॉइस एसजेवीएन स्टार अवार्ड्स और लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम की शुरुआत की, जिससे संगठन में सीखने और मान्यता की संस्कृति को बढ़ावा मिला। कर्मचारियों के विकास एवं कल्याण पर इनका फोकस ज्ञान ज्योति, ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म और कोर्सेरा एवं आईआईएम जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों के सहयोग से विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से प्रमाणित हुआ है। इनके कार्यकाल में बैलेंस स्कोर कार्ड और कर्मचारी कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं, ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करना सकारात्मक मानव संसाधन संस्कृति के प्रति उनकी प्रतिबद्धता दर्शाता है। इनके विजन एवं नेतृत्व ने एसजेवीएन पर एक अमिट छाप छोड़ी है, जो प्रगति और सशक्तिकरण के प्रति उनके अटूट समर्पण को प्रदर्शित करता है।

 

श्रीमती गीता कपूर के योगदान के लिए उन्हें सीआईडीसी चेयरमैन्‍स कॉमेन्‍डेशन ट्रॉफी, विश्व एचआरडी कांग्रेस के दौरान ईटी नाउ द्वारा प्रतिष्ठित महिला सुपर अचीवर अवार्ड जैसे पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।

 

शिमला की मूल निवासी श्रीमती गीता कपूर ने अपनी शिक्षा लोरेटो कॉन्वेंट तारा हॉल, बीड्स कॉलेज और हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी बिजनेस स्कूल से हासिल की। मोहाली स्थित पंजाब वायरलेस सिस्टम्स में मानव संसाधन टीम में शामिल होने वाली प्रथम महिला से लेकर वर्ष 1992 में एसजेवीएन में पहली महिला मानव संसाधन अधिकारी के रूप में शामिल होने तथा एसजेवीएन की प्रथम महिला अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक बनने तक की इनकी यात्रा इनके नेतृत्व कौशल का प्रमाण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *