19 मई को होगा श्रद्धा और आस्था का प्रतीक मां हाटू मेला, राजा विक्रमादित्य सिंह करेंगे विशेष पूजा अर्चना…

Spread the love

नारकंडा

ऐतिहासिक हाटु मेला 19 मई  जेठ माह के पहले रविवार को

राजा विक्रमादित्य सिंह और राजमाता प्रतिभा सिंह करेंगे विशेष पूजा अर्चना

ज्येठ के रविवारो को होगा मेला

मेला कमेटी ने की पूरी तैयारी

 

 

जिला शिमला के नारकंडा के प्रसिद्ध शक्तिपीठ हाटू माता मंदिर में जेठ माह के पहले रविवार यानी 19 मई को हाटू मेले का शुभारंभ होगा। रविवार को प्रदेश काग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिह व लोनिवि मंञी विक्रम आदित्य सिह माता हाटू के दर पर पहुंचेगी। मंदिर कमेटी अध्यक्ष कंवर भूपेंदर सिंह ने बताया कि 19 मई से मेले का आयोजन हो रहा है। उन्होने कहा है कि स्व वीरभद्र सिह का परिवार हमेशा यहा मेले के पहले दिन पहुचता है और माता की पूजा अर्चना करता है उसी परपरा के तहत निमंत्रण दिया गया है।

कमेटी अध्यक्ष कंवर भूपेंदर सिंह की अध्यक्षता मे कमेटी की बैठक हुई। जिसमे सदस्यो ने मेला को सफलतापूर्व होने के लिए रूपरेखा तैयार की। कंवर भूपेंदर सिंह ने कहा कि हाटू मेला हर वर्ष ज्येष्ठ माह के रविवारो को मनाया जाता है। इस बार चार रविवार ज्येेेेष्ठ मे आ रहे है। कमेटी ने लोगो से मंदिर की प्रतिष्ठा बनाए रखने की अपील की है उन्होंने कहा कि मंदिर के आसपास कोई दुकान नही लगेगी मंदिर के नीचे मैदान में दुकानो के लिए जगह का चयन किया गया है उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि धार्मिक स्थल पर अनौपचारिकता फ़ैलाने वालो को बक्शा नही जाएगा।  मेले के दौरान यातायात को एक तरफ़ा चलाया जाएगा मेले में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए जाएगे मेले में प्रशासन की हर संभव मदद ली जाएगी।

 

नारकंडा से 8 किलोमीटर की दूरी व् करीब 2500 मीटर की उंचाई पर प्रसिद्ध मां हाटूवाली के दर पर हाटू मेला हर साल ज्येष्ठ महीने के पहले रविवार को शुरू होता है। उपरी शिमला के लोगो का आस्था प्रतिक हाटु मे हजारो की सख्या मे भक्त माता के दर्शन करते है। सर्दियो मे अधिक बर्फ पडने के चलते यहा पहुचना मुश्किल है। जिसके चलते लोग Sach गर्मियो मे आते है। जहा अब भी बर्फ के दिदार हो जाते है। हाटू मंदिर कमेटी के अध्यक्ष कंवर भूपेंद्र सिंह ने बताया कि मेले के सफल आयोजन के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मां हाटू के प्रति लोगों में अटूट आस्था है। यहां हिमाचल के कोने-कोने से ही नहीं बल्कि देश-विदेश से भी लोग मां से सुखी जीवन का आशीर्वाद प्राप्त करने पहुंचते हैं। मां हाटूवाली सच्चे मन से यहां आने वाले अपने हर भक्त की मनोकामना पूरी करती है। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान भारी भीड़ जुटने के मद्देनजर यातायात, पार्किंग, पेयजल समेत सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम कर दिए गए हैं।  मां के दर्शन करने को आए लोग यहां से जौ बाग जाना नहीं भूलते। चारों तरफ पेड़ों से घिरे जौ बाग में सुकून मिलता है। हाटू मेला ही नहीं, बल्कि यहां मां दुर्गा के दर्शन के लिए साल भर श्रद्धालुओं की आवाजाही रहती है। नारकंडा में हर साल लगने वाले हाटू मेले में हजारों श्रद्धालु जुटते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *