82 संपत्तियों की खरीद में लगा सुधीर का काला धन, ड्राइवर नेक राम के नाम से खरीदी 10 करोड़ रुपये की जमीनें.. सीएम सुक्खू

Spread the love

 

82 संपत्तियों की खरीद में लगा सुधीर का काला धन : मुख्यमंत्री

 

-बिकाऊ विधायकों का सरगना भू माफिया भी, ड्राइवर नेक राम के नाम से खरीदी 10 करोड़ रुपये की जमीनें

 

-दुबई, पालमपुर, शिमला, मनाली व चंडीगढ़ में भी बेनामी संपत्ति, भारी बारिश में डटे रहे लोगमु

मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि बिकाऊ विधायकों का सरगना सुधीर शर्मा भू माफिया भी है। धर्मशाला व आसपास के क्षेत्र में 82 संपत्तियों की खरीद में सुधीर का काला धन लगा है। पूर्व विधायक ने ये संपत्तियां अपने ड्राइवर नेक राम के नाम खरीदी हैं। 3 साल में इन जमीनों की खरीद की गई है। ड्राइवर के पास दस करोड़ रुपये कहां से आये। दुबई, पालमपुर, शिमला, मनाली व चंडीगढ़ में भी बिकाऊ पूर्व विधायक सुधीर की बेनामी संपत्ति है।

मुख्यमंत्री ने यह खुलासा धर्मशाला में कांग्रेस उम्मीदवार देवेंद्र जग्गी के समर्थन में पास्सू, मंदल, गुरुद्वारा सिंह सभा योल बाजार व खनियारा में आयोजित जनसभाओं में किया। मंदल में भारी बारिश में भी लोग मुख्यमंत्री को सुनने के लिए डटे रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांच चल रही है, सुधीर के काले कारनामे जल्दी सबके सामने होंगे। सफेद कपड़े डालकर वह खुद बेदाग साबित करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन जनता जानती है वह दागी हैं। दस साल पहले धर्मशाला आकर सुधीर ने दस करोड़ रुपये का मकान बनाया और दस करोड़ रुपये की संपत्तियों को ड्राइवर के नाम खरीदा। एक बार मंत्री रहे सुधीर ने खूब काला धन अर्जित किया है। बीते 14 महीने कांग्रेस सरकार में भी वह इसी काम में लगे रहे। फोन व घर के दरवाजे बंद रखे, विधानसभा कभी कभार आये। लोगों के शादी के कार्ड लेने से मना कर दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुधीर को पैसे की भूख इतनी है कि एक जमीन मालिक को जमीन ख़रीदने के लिए विधायक रहते खुद फोनकर दबाव बनाया और कहा कि आपको अपनी जमीन देनी ही होगी। लेकिन, जमीन मालिक ने मना कर दिया कि उसके पास थोड़ी सी जमीन है, वह उसे नहीं बेचेंगे। जमीन मालिक ने मुझे यह बात खुद आकर बताई है। जांच चल रही है, आने वाले समय में और बड़े खुलासे होंगे। पैसे की भूख में ही धर्मशाला के पूर्व विधायक ने खुद को भाजपा की राजनीतिक मंडी में बेचा है।

उन्होंने कहा कि धर्मशाला के पूर्व विधायक का ध्यान संपत्ति बनाने पर ही रहा, लोगों की समस्याओं को कभी नहीं उठाया। मुख्यमंत्री के नाते मैं खुद धर्मशाला स्मार्ट सिटी का काम देखता रहा। ढंगवार में 250 करोड़ रुपये का मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट दिया, 500 करोड़ रुपये का यूनिटी मॉल उनके विधानसभा क्षेत्र में दिया, लेकिन सुधीर फिर भी बिक गया। वह धनसेवक हैं, जनसेवक नहीं। इसलिए कांग्रेस पार्टी ने ईमानदार उम्मीदवार देवेंद्र जग्गी को टिकट दिया है। धर्मशाला की जनता उनका साथ दे व जिताकर विधानसभा भेजे, पूरे विधानसभा क्षेत्र की सूरत बदल दी जाएगी। पूर्व विधायक ने जनता पर उपचुनाव थोपा है, ऐसे लोगों की राजनीति में कोई जगह नहीं है। बिकाऊ कभी टिकाऊ नहीं हो सकता, 1 जून को कांग्रेस को वोट देकर उन्हें घर बिठा दीजिए। धर्मशाला के भाजपा कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि यह चुनाव पार्टी विचारधारा से ऊपर उठकर लड़ें। बिकाऊ सुधीर कभी भाजपा का नहीं होगा। ईमानदार भाजपा कार्यकर्ता कांग्रेस को वोट देकर उन्हें सबक सिखाए। धर्मशाला का विकास मैं खुद देखूंगा। इस दौरान खेल मंत्री यादविंदर गोमा, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार नरेश चौहान, पूर्व उम्मीदवार विजय इंद्र कर्ण इत्यादि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *