प्रधानमंत्री बताएं, आपदा में हिमाचल को कहां धन दिया : मुख्यमंत्री

Spread the love

शिमला

प्रधानमंत्री बताएं, आपदा में हिमाचल को कहां धन दिया : मुख्यमंत्री

 

मोदी जी को जयराम से पूछना चाहिए 1500 रुपये रुकवाने चुनाव आयोग क्यों गए

 

सुजानपुर का पूर्व विधायक राजेंद्र बिके खड्डों से लूट रहा जनता की खनिज संपदा

 

हमीरपुर

मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बताएं हिमाचल प्रदेश को प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए कहां धन दिया। आंकड़ों के साथ प्रधानमंत्री को हिमाचल दौरे पर बात करनी चाहिए। हिमाचल को एनडीआरएफ व एसडीआरएफ का पैसा मिला है, जो आपदा आये या न आए मिलता ही है। प्रदेश सरकार ने 9900 करोड़ रुपये का संशोधित क्लेम नोट केंद्र सरकार को भेजा था, उसमें से भी कोई राशि नहीं मिली। भाजपा नेता झूठ बोलना छोड़कर यह बताना शुरू करें कि कितनी विशेष राहत राशि हिमाचल को केंद्र ने दी है।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के नाहन व मंडी में दिए जुमलेबाज भाषण पर यह जवाब सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र के कोट, चौरी व टौणीदेवी में जनसभाओं को संबोधित करते हुए दिया। सुखविंदर सिंह ने कहा कि मोदी जी कह रहे हैं कि महिलाओं को 1500 रुपये नहीं मिले। उन्हें शायद जयराम ठाकुर ने गलत जानकारी दे दी। प्रधानमंत्री को झूठ नहीं बोलना चाहिए, लाहौल स्पीति में महिलाओं को 1500 रुपये पेंशन मिलना शुरू हो गई है। 1150 रुपये सामाजिक सुरक्षा पेंशन ले रही 2.37 लाख महिलाओं को भी 1500 रुपये खाते में आना शुरू हो गए हैं। प्रधानमंत्री को जयराम ठाकुर को पूछना चाहिए कि वह 1500 रुपये रुकवाने चुनाव आयोग में क्यों गए। अगर भाजपा आज चुनाव आयोग में लिखकर दे कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं है फार्म भर चुकीं महिलाओं के खाते में कल 1500 रुपये आ जाएंगे।

सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि 1500 रुपये की गारंटी कांग्रेस की है, यह राशि महिलाओं को 4 जून के बाद मिल ही जाएगी। भाजपा व जयराम ठाकुर जितनी मर्जी ताकत लगा लें महिलाओं के पैसे नहीं रोक पाएंगे। भाजपा ने कांग्रेस के विधायकों को राजनीतिक मंडी में खरीदने के लिए पैसा लगाया, आपदा में देने के लिए उनके पास राशि नहीं थी। सुजानपुर के पूर्व विधायक राजेंद्र बिके भी आपदा में नहीं दिखे। मैंने खुद दौरा किया तब चंडीगढ़ से आए। राजेंद्र बिके सुजानपुर की जनता की खनिज संपदा खड्डों से लूट रहे हैं। उनके कई क्रशर पार्टनरशिप में हैं, वह अपने काम करवाने ही आते थे जनता के काम कभी नहीं लाये। सुजानपुर का विकास कांग्रेस की देन है। राजेंद्र अब बिके ही रहेंगे, जनता की अदालत में टिकेंगे नहीं। वह जनता को जितने भी प्रलोभन दे लें, कोई चक्कर में आने वाला नहीं है। उन्होंने सुजानपुर की जनता के साथ धोखा किया है। उन्हें हमीरपुर जिला का विधायक रास नहीं आया, वह अपने मंत्री पद के लिए इतने महत्वाकांक्षी हो गए कि भाजपा की राजनीतिक मंडी में बिक गए। राज्यसभा चुनाव से पहले फ्रेश जूस हमारे साथ पिया, अभिषेक मनु सिंघवी को जिताने की कसमें खाते रहे, लेकिन मुझे क्या पता था पहले ही खुद को बेच चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुराग ठाकुर को भी आजकल झूठ बोलने की आदत लग गई है। वह हमीरपुर मेडिकल कॉलेज को लेकर लगातार झूठ बोल रहे हैं। हमीरपुर का मेडिकल कॉलेज 3 मार्च 2014 को मंजूर हुआ था, 2015 में नहीं। अनुराग झूठ बोलने की हद पार कर चुके हैं, उन्हें सच का ज्ञान नहीं। अगर मेडिकल कॉलेज भाजपा लाई होती तो उसका नामकरण डॉ राधाकृष्णन नहीं दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर होता। चंबा मेडिकल कॉलेज जवाहरलाल नेहरू व नाहन मेडिकल कॉलेज यशवंत परमार जी के नाम पर है, क्योंकि यह कांग्रेस की देन है। भाजपा लाई होती तो अपने नेताओं के नाम पर नामकरण करती। मुख्यमंत्री ने कहा कि सुजानपुर में लड़ाई ईमानदार व बेईमान के बीच है। कांग्रेस ने कैप्टन रणजीत को ईमानदारी पर टिकट दिया है, सुजानपुर की जनता उनका साथ दे, क्षेत्र में पानी, बेसहारा पशुओं सहित सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। मैं भी आपका विधायक बनकर ही काम करूंगा। लोकसभा के लिए सतपाल रायजादा को वोट दें। 26 साल से भाजपा सांसद हमीरपुर सीट से बन रहा है, लेकिन काम कोई नहीं किया। ट्रेन हमीरपुर पहुंच गई और सीटी मारती हुई जा रही है, अनुराग ने रेलवे लाइन के मुद्दे पर भी हमेशा लोगों को ठगा है। अब वह कह रहे हैं कि प्रदेश सरकार पैसे नहीं दे रही।

इस दौरान लोकसभा उम्मीदवार सतपाल रायजादा, विधानसभा उम्मीदवार कैप्टन रणजीत, विधायक चंद्रशेखर, पूर्व सीपीएस अनीता वर्मा, केसीसी बैंक चेयरमैन कुलदीप पठानिया, जिला अध्यक्ष सुमन भारती, विशेष पर्यवेक्षक संदीप, अध्यक्ष राजेंद्र वर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष नरेश ठाकुर इत्यादि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *